Up Unlock-4.0: UP में लॉकडाउन पूरी तरह से खत्म, रविवार का साप्ताहिक लॉकडाउन भी खत्म

Uttar Predesh News in Hindi उत्तर प्रदेश की योगी सरकार ने रविवार के लॉक डाउन को खत्म करने का फैसला लिया है । कोर्ट ने संक्रमण के बढ़ते मामलों को देखते हुए यूपी सरकार ने हफ्ते के हर शनिवार और रविवार को लोग दान करने का फैसला लिया था । पिछले हफ्ते शनिवार के लॉक डाउन को यूपी सरकार ने खत्म कर दिया था लेकिन अब सरकार ने रविवार के लोकदल को भी खत्म कर दिया है ।

यानी अब लोग हफ्ते के किसी भी दिन जरूरी काम के लिए बाहर जा सकते हैं । दरअसल उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा है कि प्रत्येक रविवार को बाजारों की प्रदेश व्यापी साप्ताहिक बंदी के स्थान पर अब बाजारों की साप्ताहिक बंदी पूर्व निर्धारित व्यवस्था के अनुरूप रहेगी । उन्होंने कहा कि कंटेनर जोन को छोड़कर अन्य स्थानों पर सभी होटल और रेस्टोरेंट का संचालन कराया जाए ।

इस गतिविधि में संक्रमण से सुरक्षा के सभी मानकों का पालन सुनिश्चित किया जाए । वहीं कोरोना वायरस के चलते यूपी सरकार का राजस्व खाली है । इसे बढ़ाने के लिए सीएम योगी ने अधिकारियों को निर्देश दिए हैं कि जीएसटी संग्रह को बढ़ाने के लिए विशेष प्रयास करें । लोकभवन में एक उच्च स्तरीय समीक्षा बैठक में उन्होंने कोरोना संक्रमण के प्रति लोगों को जागरूक करने के साथ ही आर्थिक गतिविधियों को तेजी से बढ़ाने के निर्देश दिए हैं ।

उन्होंने कहा कि दो गज की दूरी और मास्क है जरूरी के प्रति लोगों को विशेष रूप से जागरूक करते हैं आर्थिक गतिविधियां संचालित कराई जाए । चिकित्सा कर्मियों को मेडिकल संक्रमण से सुरक्षित रखने के लिए सभी प्रबंध किये जाएं एसजीपीजीआई केजीएमयू तथा डॉक्टर राम मनोहर लोहिया आयुर्विज्ञान संस्थान द्वारा एक हजार आईसीयू बेड्स तैयार किये जाए ।

Russia Corona Vaccine News in Hindi: रूस ने निभाई दोस्ती, साझा किया स्पूतनिक वी वैक्सीन का डाटा, परख रहा भारत

कोरोना मामले में विश्व में दूसरे नंबर पर भारत । पिछले 24 घंटों में दर्ज किए गए सबसे ज्यादा केस । कोरोना संक्रमितों का आंकड़ा बयालीस लाख के पार होना संक्रमण के मामले में भारत दुनिया में अब दूसरे स्थान पर पहुंच चुका है । पिछले 24 घंटों में भारत में 90 हजार 802 नये मामले दर्ज किए गए ।

वहीं एक हजार 16 मौतें हुई हैं । भारत में कोरोना संक्रमितों का आंकड़ा बयालीस लाख के पार पहुंच चुका है और इसी बीच मास्को और नई दिल्ली के बीच रूस में निर्मित कोरोना वैक्सिन स्पुतनिक वी को लेकर बातचीत भी हो रही है और रूस भारत के साथ अपनी दोस्ती को निभाते हुए स्पूतनिक भी वैक्सीन को लेकर एक व्यापक डाटा भारत के साथ साझा किया है जिसका भारत सरकार की तरफ से बारीकी से अध्ययन किया जा रहा है ।

आपको बतादें कि ये वही वैक्सीन है जिसे 11 अगस्त को रूस के राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन ने दुनिया की पहली वैक्सीन कह कर लॉन्च किया था । वैक्सीन को लेकर हो रही चर्चा मॉस्को और भारत के बीच कई स्तरों पर चर्चा । रूस के एम्बेसडर निकोले सेफ ने कहा कि वैक्सीन को लेकर मॉस्को और भारत सरकार के बीच कई स्तरों पर बातचीत हो रही है । इसमें वैक्सीन की आपूर्ति सह विकास और सह निर्माण जैसे सभी मुद्दे शामिल हैं ।

आपको बता दें कि रूसी वैक्सीन स्पूतनिक भी पहले और दूसरे चरण के क्लीनिकल परीक्षण डेटा के परिणाम को भी लैंसेट जर्नल में प्रकाशित किया गया है और वैक्सीन के सार्वजनिक उपयोग के लिए मॉस्को नियामकों द्वारा मंजूरी भी दी गई है । वैक्सीन को लेकर विदेश मंत्री करेंगे चर्चा । जानकारी मिली है कि आने वाले हफ्ते में विदेश मंत्री एस जयशंकर रूस दौरे के दौरान भी स्पूतनिक भी वैक्सीन को लेकर बातचीत करेंगे जिसको

रूस के एम्बेसडर ने कहा कि रूस भारत के साथ न्यायपूर्ण और बहुध्रुवीय विश्व की कल्पना करता है इसलिए इस वैक्सीन पर काम करना चाहता है । राजनीतिक खेल खेलने में लगे हुए हैं कई देश । आम लोगों को इसी हफ्ते मिलेगी स्पूतनिक वी वैक्सीन । आपको बता दें कि रूस इसी हफ्ते से स्पूतनिक भी वैक्सीन को आम लोगों के लिए उपलब्ध कराने जा रहा है जिसे मॉस्को के कामयाब रिसर्च इंस्टिट्यूट ने रूसी रक्षा मंत्रालय के साथ मिलकर एक नो वायरस को बेस बनाकर तैयार किया है ।

वहीं निकोले को द सेफ ने कहा कि वर्तमान में दुनिया के कई देश महामारी के बावजूद भूराजनीतिक खेल खेलने में लगे हुए हैं वो एक दूसरे के खिलाफ चालें चल रहे हैं जबकि होना यह चाहिए कि सभी देश साथ मिलकर इस वायरस से लड़ने में सहयोग करें । भारत में की थी रूसी वैक्सिन के डाटा की मांग । भारत में होगा वैक्सीन का परीक्षण ।

दरअसल भारत में मास्को स्थित गांववाले रिसर्च इंस्टीटयूट ऑफ एपीटीओ बायोलॉजी और माइक्रोबायोलॉजी से रूसी वैक्सीन के डाटा की मांग की थी । अब वैक्सीन का डाटा मिलने के बाद भारत में स्पुतनिक भी वैक्सीन का नैदानिक परीक्षण होना है । आपको बतादें कि वैक्सीन का उत्पादन सितंबर 2020 में शुरू होने की उम्मीद जताई जा रही है । वहीं जानकारी ये भी है कि भारत सहित कम से कम 20 देशों ने इस पोत में वी प्राप्त करने में रुचि दिखाई है ।

  • इन देशों में संयुक्त अरब अमीरात सऊदी अरब इंडोनेशिया फिलिपीन्स ब्राजील और मैक्सिको शामिल है । और अधिक Hindi Me Samachar सुने केवल Khalbali News पर |