India China LAC News चीन ने पूर्वी लद्दाख में वास्तविक नियंत्रण रेखा पर भारत के खिलाफ नया मोर्चा खोल दिया है ।

पेंगोलिन झील के दक्षिणी किनारे रेजांगला के पास भारत चीन सैनिकों के बीच अब भी गतिरोध जारी है । 30 से 40 चीनी सैनिकों की टुकड़ी वहां पर मौजूद है । सूत्रों के मुताबिक तीन दिन से लगातार चीनी सैनिक उन चोटियों पर पहुँचने की कोशिश कर रहे हैं जहां भारतीय सैनिक तैनात हैं । जिस तरह पहले पेंग्विन झील के उत्तरी किनारे पर फिंगर फोर में भारत चीन सैनिक आमने सामने थे उसी तरह अब तनाव का सबसे बड़ा प्वाइंट हरे जांगला के पास की चोटियां बन गई है ।

भारत ने कहा कि चीन की पीपल्स लिबरेशन आर्मी ने एलएसी पर फिर से उकसावे की कार्रवाई की और द्विपक्षीय समझौते का उल्लंघन करते हुए फायरिंग भी की । यह एलएसी पर गोली नहीं चलाने की वर्षों पुरानी नीति का उल्लंघन है ।

चीन पेंगुइन लेक के दक्षिणी छोर पर स्थित पहाड़ियों पर कब्जा करना चाहता है । इस कोशिश में उसके सैनिक बार बार उधर कूच करते हैं लेकिन भारतीय सेना की किलेबंदी के सामने उनकी एक नहीं चल रही है ।

  • 19 से 30 अगस्त की रात भी चीनी सैनिकों ने यही किया था जिसे भारत की स्पेशल फ्रंटियर फोर्स ने अच्छी तरह नाकाम कर दिया ।

दरअसल चीन की लंबे समय की योजना भारत को अस्थिर करने की है । इसके लिए वो तीन हजार 488 किलोमीटर लंबी वास्तविक नियंत्रण रेखा पर तनाव पैदा करता रहा है । उसे लगता है कि इससे भारत की राजनीति में उथल पुथल मचेगी और प्रधानमंत्री मोदी की ताकतवर छवि को नुकसान पहुंचेगा । इस ख्वाब को पूरा करने के लिए वह अपने सदाबहार दोस्त पाकिस्तान की मदद ले रहा है जो पश्चिमी सीमा पर भारतीय सेना को उलझाए रखने के लिए नियंत्रण पर ताबड़तोड़ फायरिंग करता है ।

दिल्ली के स्वास्थ्य मंत्री सत्येन्द्र जैन ने कहा है कि राष्ट्रीय राजधानी में कोविन्द सायडिंग के मामलों में वृद्धि अगले 10 से 15 दिन में स्थिर होगी लेकिन घबराने की कोई आवश्यकता नहीं है । उन्होंने कहा कि कोरोना वायरस संक्रमण के मामले में वृद्धि को रोकने में होम कारण चीन की नीति परिवर्तनकारी साबित हुई है और सरकार इस रणनीति को जारी रखेगी ।

सतेंद्र जैन ने कहा कि दिल्ली में कोविन्द आयोडीन के मामलों की मौजूदा स्थिति जून के मुकाबले कहीं बेहतर है जब शहर में बड़ी संख्या में कोरोना संक्रमण के मामले सामने आये थे । नये मामलों में इस तरह की वृद्धि का एक मुख्य कारण ये है कि हम अधिक संख्या में जांच कर रहे हैं । हमने बाजारों भीड़ भाड़ वाले क्षेत्रों मोहल्ला क्लीनिकों अस्पतालों में और ऐसे ही अन्य कई स्थानों पर जांच की है । जैन ने कहा कि प्रतिदिन जाँच क्षमता जून के मुकाबले चार गुनी हो चुकी है । दिल्ली में किसी अन्य राज्य के मुकाबले प्रति दस लाख की आबादी पर अधिक जांच की जा रही है ।

सतेंद्र जैन ने यह भी कहा कि अगर दिल्ली सरकार जांच संख्या में कमी कर दे तो संभव है कि नये मामलों की संख्या कम हो जाए लेकिन ऐसा करने से कोई विटामिन कम नहीं होगा । दिल्ली में जून के महीने में कोरोना वायरस संक्रमण के मामलों की संख्या काफी अधिक थी । उस समय हर रोज दो हजार या तीन हजार से ज्यादा नये मरीज सामने आ रहे थे ।

जुलाई में हर दिन एक हजार से दो हजार नए मामले सामने आए । जैन ने कहा मामलों में वृद्धि हुई है लेकिन तथ्य यह है कि हमने जाँच की संख्या बढ़ा दी है क्योंकि हम नहीं चाहते कि बीमारी की चपेट में आया कोई  भी व्यक्ति ऐसा रहे जिसके बारे में पता न चले चाहे वह लक्षण मुक्त व्यक्ति ही क्यों न हो । यह वृद्धि अगले दस से पंद्रह दिनों में नीचे आ जाएगी और मामले तब तक स्थिर हो जाएंगे । भारत सरकार ने हाल ही में देश में पᆬर्जी मोबाइल पर बैन लगा दिया था ।

  • पाबंदी के अलावा सरकार ने 117 अन्य चीनी मोबाइल ऐप्स पर बैन लगाया था । पहली मोबाइल भारत में बेहद पॉप्युलर गेम है । अपनी मोबाइल गेम के फैन्स के लिए एक अच्छी खबर है । पहली मोबाइल की जल्द ही भारत में वापसी हो सकती है ।

दरअसल सब्जी कॉरपोरेशन ने चीन के टेनसेंट गेम्स से नाता तोड़ने का फैसला किया है । सब्जी मूल रूप से दक्षिण कोरिया में डेवलप किया गया गेम है । इस गेम के मोबाइल वर्जन की फ्रेंचाईजी चीनी कंपनी टेनसेंट गेम्स ने ली है । अब भारत में चाइनीज ऐप्स के बैन होने के बाद सब्जी की पैरेंट कंपनी ने भारत में पूंजी के आप्शन अपने हाथ में लेने का फैसला किया है और भारत में टेनसेंट गेम्स की फ्रेंचाइजी कंपनी सस्पेंड कर दी गई है । टेनसेंट गेम्स से नाता तोड़ने के बाद अब पणजी की सीड कंपनी भारत । पूंजी से जुड़े आपरेशन को अंजाम देगी इसका मतलब ये भी है कि भारत में पूंजी मोबाइल पर लगा बैन जल्द ही हटाया जा सकता है । सरकार ने ऐप्स पर बैन लगाने वाले आदेश में बताया कि इन ऐप्स की और से कलेक्ट और शेयर किया जा रहा डेटा यूजर्स के साथ साथ राष्ट्र की सुरक्षा के लिए भी खतरा बन सकता था ।

बैन किए गए 118 ऐप्स में कई पॉप्युलर ऐप्स शामिल हैं ।

  • बैन के दौरान पापुलर हुए लूडो और कैरम जैसे गेम्स पर भी बैन लगाया गया है ।

लिस्ट में लूडो आल स्टार और लूडो वर्ल्ड लूडो सुपरस्टार के अलावा चेस रेस और कैरम फ्रेंड्स भी शामिल हैं । सुशांत सिंह राजपूत की मौत के मामले में ड्रग्स कनेक्शन को लेकर जांच कर रही एनसीबी ने बॉलिवुड ऐक्ट्रेस रिया चक्रवर्ती को गिरफ्तार कर लिया है ।

  • रिया की गिरफ्तारी के बाद बिहार के डीजीपी गुप्तेश्वर पांडे ने कहा कि यह साफ हो गया है कि ड्रग्स के धंधे में बड़े बड़े लोग शामिल हैं ।

मुझे कोई एक्साइटमेंट नहीं हो रहा है क्योंकि रिया चक्रवर्ती या किसी भी आदमी से कोई हमारे अभियुक्‍त में से हैं जो सुशांत के संबंध में उनके पिता ने यहां मुकदमा दर्ज कराया है उसमें जो अन्य लोग अभियुक्त बनाए हैं उसमें रिया चक्रवर्ती हैं प्रमुख अभियुक्त हैं तो हम हमको कोई इस बात से न तो खुशी है न कोई काम है लेकिन हमारी संवेदना सुशांत के साथ है ।

  • सुशांत के परिवार के साथ इस पूरे देश की संवेदना है ।

पूरा देश जानना चाहता है कि इसमें क्या हुआ । अब जब एनसीबी इसका इन्वेस्टिगेशन कर लेती अपने मामले का ट्रक कार ट्रक पलट कर पहले उसका उसके साथ रिया जी के कनेक्शन का तो कुछ न कुछ अक्षय होंगे उसी के आधार पर गिरफ्तारी हुई होगी तो आई ढूंढ उन टू गोइंग की डीटेल शून्य बट आइकन टेलीवुड का नोट वेरी एक्साइटेड और टूटे मेनी रीजन टू बी हैप्पी और हैप्पी पुसौर में कुछ में का मेरा व्यक्तिगत कोई कारण नहीं है ।

देश में कोई नागरिक महामारी की स्थिति को लेकर केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय और भारतीय आयुर्विज्ञान अनुसंधान परिषद ने मंगलवार को प्रेस कॉन्फ्रेंस का आयोजन किया । इसमें स्वास्थ्य मंत्रालय के सचिव राजेश भूषण ने बताया कि देश में कोरोना वायरस से ठीक होने वाले मरीजों की संख्या में लगातार बढ़ोतरी हो रही है और मृत्युदर में कमी देखने को मिल रही है रिकवरी बढ़ रही है इसलिए जो ऐक्टिव हैं और जो रुकावट के थे उनके बीच का जो दूरी है वो भी बढ़ रही है ।

आज देश में 8 लाख 97 हजार ऐक्टिव Case है जबकि 33 लाख 98 हजार ठीक हो चुके है । अब यदि मृत्यु की बात करें डेट पर मिलियन पॉपुलेशन तो ये भी भारत में विश्व के सबसे कम आँकड़ों में से है ।

यहां ये भी मैं बताना चाहूंगा कि अनेक देशों में डेथ पर मिलियन भारत के आंकड़े के मुकाबले 11 गुना या 12 गुना ज्यादा है क्योंकि डेथ पर मिलियन हमारे यहां कम हैं । इसीलिए आप देखेंगे कि पैकेज फर्टिलिटी रेट है उसमें भी लगातार गिरावट आ रही है । अगस्त के पहले सप्ताह में जो केस रूटीन दर्ज थी वो 2 दशमलव 15 प्रतिशत थी अब ये 1.70 प्रतिशत हो गई है । Hindi Me Samachar