[gtranslate]

  • Coronavirus News सोनीपत के मुरथल में मशहूर अमरीक सुखदेव ढाबे में 65 कर्मचारी कोरोनावायरस (Coronavirus) से संक्रमित पाए गए हैं सुखदेव अमरिक ढाबा जीटी रोड करनाल रोड के सबसे मशहूर ढाबों में से एक है और दिल्ली एनसीआर से बहुत से लोग वहां खाना खाने पिकनिक मनाने जाते हैं |

सुखदेव अमरीक ढाबे के पास ही गरम धरम ढाबा के भी 10 लोग संक्रमित पाए गए हैं प्रशासन ने दोनों ढाबों कोअगले आदेश तक बंद कर दिया है |

प्रशासन का कहना है कि ये ढाबे टेस्टिंग पूरी होने तक नहीं खुलेंगे पिछले एक हफ्ते में लगभग 10000 लोग यहां पर ढाबे में खाना खाने आए थे |

  • यहां पर Corona virus के काल में ही हर रोज सैकड़ों लोग खाना खाने आते है तो कितने हजारों लोग यहां पर हो जाते थे यहां पर यहां के 65 कर्मचारी Covid19 Positive गए हैं और उसके बगल में है गरम धरम ढाबा बॉलीवुड स्टार धर्मेंद्र का है यहां के 10 कर्मचारी कोविड-19 (Covid-19) पाए गए हैं |

 

  • जिसमें कुछ बावर्ची भी है कुछ खाना परोसने वाले वेटर भी हैं कुछ जहां प्रबंधन के भी लोग हैं 

 

  • लगभग 400 लोगों के सैंपल लिए गए थे जिसमें 75 कर्मचारी मिला करके इन दोनों ढाबों के पौधों से पाए गए हैं तो खबर काफी चौका देने वाली है |

लेकिन पूरी 11 मार्केट अंदर है अंदर रहे तमाम गेम खेलने के लिए है  गिफ्ट शॉप है बगल में तमाम कपड़ों के शोरूम भी है तो पूरी तरीके से कमर्शियल हो चुका है |

इसके अलावा यहां पर सुखदेव अमरिक ढाबा तो फेमस है मुरथल मुरथल को अमृत सुखदेव ढाबा के नाम से जाना जाता है लोग यहां पिकनिक के लिए आते हैं फिर दिल्ली से नहीं आसपास के इलाके से आते और खासकर लोग चंडीगढ़ जा रहे होते पंजाब-हरियाणा जा रहे होते हैं |

वह घर से गई क्या कि निकलते कि रास्ते में अमृत सुखदेव में जाकर के पराठे खाने हे तो इस तरीके का क्रेज है दूसरे यहां पर कुछ होटल हवेली होटल है साहब होटल गुलशन होटल है जो किसी तरीके के हैं तो यहां पूरे मामले आ गए हैं |

  • प्रशासन काफी चौकन्ना हो गया है उस ढाबे के आसपास रोड पर वहां पर भी Covid19 Testing कराई जा रही है कर्मचारि और रात 10000 ज्यादा लोग यहां पर आया विवेक आते तो सोचिए कितना ज्यादा यहां पर क्रेज है |

लोग यहां पर आते हैं यहां की सेल्फी खींचकर फेसबुक टि्वटर इंस्टाग्राम पर डालते हैं यह भी सोचने में दिखाने की कोशिश करते हैं कि वह ऐसी जगह पर है इसका शौक भी करते हैं |

तो ऐसे में यहां के कर्मचारी खाना बनाने वाले चलाने वाले पौधे में तो समझ लेना कितनी बड़ी बीमारी है प्रशासन कांटेक्ट वेटिंग कर रहा है और ना ही शायद यही दे रहा है कि लोगों को कि अगर बहुत जरूरी नहीं है तो घर पर ही रखें खाना बनाएं और खाए कि भले ही यहां के जो 75 कर्मचारी दोनों ढाबों के हुए हैं वह इंटर्मेटिक हैं लेकिन वह कैरियर जरूर है |

उनसे करोना खेल सकता है और शायद फायदा भी होगा प्रशासन का भी कोंटेक्ट रेसिंग कार लोन की टेस्टिंग करा रहा है और आगे होने वाला आने वाले समय पर दूसरे दलों के में भी कर्मचारियों टेस्टिंग कराई जाएगी तो समझ में आएगा कि वाकई में इकौना का इन तमाम दावों पर कितना असर हुआ है और यहां पर खरा ने आज खाना खाकर जाने वाले हजारों लोग क्रोना की जद में आ सकते हैं |